Welcome

Welcome
Diya Sain is India's one of the best Indian Women Kushti wrestler of present day scoring 51 medals at a short span. She is from a family of wrestlers. Her father Suraj Pahalwan and Grand father Sh. Rajinder Singh of Village Purbalian, District Mujaffar Nagar Uttar Pardesh , were also very fine wrestlers of their time. Suraj Pahlwan wanted to make his son Dev Sain a good wrestler. Divya followed on the footsteps of her brother at a very young age . Although from a fortuneless family , she went on to become a champion in India.

Wednesday, December 24, 2014

Divya Sain plays big : - Fifth position, Serbia, Sub Junior World Championship

सब जूनियर , वर्ल्ड चैंपियनशिप , सर्बिया में यह दिव्या सैन की एक शानदार कुश्ती हैं। इस कुश्ती को आप गौर से देखें तो पाएंगे की कुश्ती के अंतिम क्षणों तक प्रतिद्वंदी ने दिव्या के ऊपर पॉइंट बनाये , और 6 -0 का एक विशाल अंतर खड़ा कर दिया। अब प्रतिद्वंदी को जीतने के लिए एक पॉइंट ही चाहिए था , इस समय देसी कुश्ती लड़ने का दिव्या सैन का लम्बा अनुभव काम आया। और भंगड़ी मार कर दिव्या ने प्रतिद्वंदी को सीधे चित्त दे मारा। जिससे दिव्या सैन के विरोधी पहलवान को बड़ी हैरानी हुई। जीतते जीतते हुई हार की निराशा में उन्होंने दिव्या सैन पर एक घूँसा जड़ दिया। जिसके के लिए उन्हें दो साल के लिए मैच से बाहर कर दिया गया। इस प्रतियोगिता में दिव्या सैन को पांचवा स्थान मिला। 


 This is a match of Divya Sain , at the Sub Junior World - Championship , Serbia . Where she fights this great match with an opponent , who secures 6-0 over her. While in tussle Divya Sain pinned her and won on the basis of technical fall. The opponent got frustrated and hit Divya 's face with a blow . the wrestler was banned for playing for two years. while Divya got 5th position in the championship.




Comments from my Yourtube Channel  ansuia1974


ALL COMMENTS (4)
Share your thoughts

Stream

ansuia1974 shared this 

1 year ago
 
Reply
 · 
 
NO WAY !!!
 
loosers do like that.3 cheers for divya.




ये दो कुश्तियां दिव्या सैन ने सब जूनियर नेशनल एशियाई चैंपियन शिप , मंगोलिया में खेली। एक कुश्ती जापान और एक कुश्ती मंगोलिया की महिला पहलवान से हैं। जापान की मजबूत महिला पहलवान को चित्त करके , 70 किलोग्राम भार वर्ग में , दिव्या सैन ने रजत पदक जीत कर भारत का नाम रोशन किया । 


 These two wrestling bouts are played by Divya Sain at the Sub Junior , Asian Championship , held at Ulan Batar , Mongolia. Divya sain fought with a Mongoian and a Japanese girl. She won a Silver Medal in this vent of 70 kilogram, weight category.







comments from my Youtube Channel  ansuia1974



ALL COMMENTS (2)
Share your thoughts

Stream

ansuia1974 shared this 

1 year ago
 
Reply
 · 
 
cool



Stream

ansuia1974 shared this 

1 year ago
 
Reply
 · 

Divya Sain plays big : - fights a local traditional competition - mathrua

मथुरा कृष्ण भगवान की भूमि हैं। महाभारत के समय कुश्ती कला का एक प्रमुख केंद्र रहे मथुरा की धरती पर आज भी अनेकों अनेक अखाड़े और कुश्ती प्रशिक्षण केंद्र हैं। वर्ष भर यहाँ कुश्ती दंगलों की धूम रहती हैं। भारत केसरी देवेंदर पहलवान के द्वारा कराये गए इस दंगल में , दिव्या सैन की कुश्ती , सोनिया , राजू राणा अखाड़े की महिला पहलवान से हुई। दिव्या सैन ने कुछ मिंटो में ही , सोनिया को ढाक पर चित्त कर कुश्ती अपने नाम की। 

 Mathura is a holy place, known for the land of Lord Krishna , who gave us the holy book, Bhagvad Geeta. Mathura has been famous for its kushtwrestling culture since the age of Mahabhararta. Even today, there are kushtiwrestling competition at mathura and around for the whole year. Bharat Kesri Pahwlan Devender Pahlwan organized this competition. Where Divya Sain fought with Soniya of Guru Raju Rana Akhada, Siraspur. Divya Sain pinned Soniya on a hip throw withing a few minutes.






coments from my youtube channel  ansuia1974


ALL COMMENTS (2)
Share your thoughts

Stream

ansuia1974 shared this 

1 year ago
 
Reply
 · 

Divya Sain plays big : Gold Medal at Sub-Junior Championship , Kanyakumari

वर्ष 2013 में सब जूनियर नेशनल , कन्याकुमारी में हुआ। इस प्रतियोगिता में दिव्या सैन की यह गोल्ड मेडल फाइट हैं। महज 14 वर्ष की उम्र में गोल्ड मेडल जीतने वाली यह प्रथम महिला पहलवान हैं। इस जीत ने दिव्या सैन के लिए सब जूनियर एशिया चैंपियन शिप , मंगोलिया में स्थान पक्का किया। मंगोलिया में उनका विजय अभियान जारी रहा , जहाँ पर दिव्या सैन ने 70 किलोग्राम भार वर्ग में रजत पदक जीत कर देश का गौरव बढ़ाया। 


 This is Divya Sain 's 2013 , Sub Junior National gold Medal fight. She won it merely at the age of 14 , and got a birth in Sub Junior Asian , Champion ship , at Mongolia., where she won a silver medal at 71 kilogram weight category.






Comments from my Youtube  Channel :-  ansuia1974

ALL COMMENTS (2)

Share your thoughts

Stream





ansuia1974 shared this 

1 year ago
Reply
 · 

great girl

Divya Sain fights with a girl from Armed forces

गुरु चंदगी राम जी कुश्ती के जादूगर हुए हैं। महिला कुश्ती की शुरुआत का श्रेय भी उन्हें ही जाता हैं। गुरु जी की दूसरी पुण्यतिथि पर उनकी याद में इंदिरा गांधी स्टेडियम नई दिल्ली में कराये गए , गुरु चंदगी राम गोल्ड कप में दिव्या सैन की कुश्ती , हरयाणा की एक महिला पहलवान, फोर्सेज की एक महिला पहलवान व् अंतराष्ट्रीय पहलवान ऋतू मलिक से हुई। तीनो कुश्तियां दिव्या सैन ने अपने नाम की। और वर्ष 2012 का 61 किलोग्राम भार वर्ग का रजत पदक प्राप्त किया। 

 Guru Chandgi ram ji has been a prominent wrestling personality throughout his life. He is the man who started the women wresting in India. After he went to his heavenly abode, his son Hind Kesri Jagdish Kaliraman started a title competition in wrestling called " Guru Chandgi Ram Gold cup " . In this second edition of the event , Divya sain fights with a girl wrestler form Haryana, a girl wrestler from Armed forces, and an International wrestler Ritu Malik . Divya won in all the matches, She won a Silver medal of the event in 61 kilogram weight category.


















Comments from my youtube channel  ansuia1974

ALL COMMENTS (1)

Share your thoughts

Stream


cool

Stream


cool

Stream


This girl DIvya is a gifted girl..